एक छोटी सी छिपकली की प्रेरणादायक कहानी। Motivational Story।

0
Motivational Story

अगर एक छिपकली ऐसा कर सकती है,
तो हम क्यों नहीं कर सकते ? ? ?

जापान में एक व्यक्ति अपने घर को तोड़ कर
दोबारा बनवा रहा था तो उस दीवार की खाली जगह में एक छिपकली फंसी हुई मिली।
उस छिपकली के पैर में दीवार के बाहर की तरफ से निकल कर एक कील घुसी हुई थी।

जब उस छिपकली को देखा तो उस पर तरस तो आया ही साथ ही एक जिज्ञासा भी हुई क्योंकि
जब कील को जांचा गया तो पता चला कि ये कील मकान बनाते समय 5 वर्ष पहले ठोकी गई थी।

छिपकली 5 वर्षों से एक ही जगह फंसी रहने के बावजूद जिन्दा थी !!
दीवार के एक छोटे से अँधेरे हिस्से में बिना
हिले-डुले 5 वर्षों तक जिन्दा रहना असम्भव था।

ये वाकई हैरानी की बात थी कि छिपकली 5 वर्षों से जिन्दा कैसे थी!
वो भी बिना एक कदम हिलाये, क्योंकि पैर दीवार से निकली कील में फंसा हुआ था।
सो वहाँ काम रोक दिया गया और छिपकली को देखने लगे कि वो क्या करती है
और क्या और कैसे खाती है।
थोड़ी देर बाद पता नहीं कहाँ से एक और छिपकली आ गई जिसके मुंह में खाना था।

ये देख कर लोग हैरानी से सुन्न हो गये और ये बात उनके दिल को छू गई।
जो छिपकली पैर में कील घुसी होने की वजह से एक ही जगह फंस गई थी,
दूसरी छिपकली पिछले 5 वर्षों से उसका पेट भर रही थी!!!!

अद्भुत! एक छिपकली द्वारा अपने साथी के प्रति बिना उम्मीद छोड़े
ये सेवा पिछले 5 वर्षों से लगातार बिना थके चल रही थी।
अब आप सोचिये कि एक नन्हा सा जीव जो
काम कर सकता है क्या कोई बुद्धिमान व्यक्ति उस काम को नहीं कर सकता।

कृपया अपने प्रियजनों का परित्याग ना करें।
जब उन्हें आपकी जरूरत हो उस समय उन्हें यह ना कहें कि आप व्यस्त हैं
और आपके पास उनके लिये समय नहीं है।

हो सकता है कि आपके कदमों तले सारी दुनिया हो
लेकिन उनके लिये केवल आप ही उनकी दुनिया हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here