संता बंता के मजेदार चुटकुले। Santa Banta Jokes In Hindi। funny jokes.

0
Santa Banta Jokes in Hindi

funny Santa Banta Jokes In Hindi.

डॉक्टर- आपकी बीमारी की असल वजह मेरी समझ में नहीं आ रही,
हो सकता है, शराब पीने की वजह से ऐसा हो रहा हो ।

संता- कोई बात नहीं डॉक्टर साहब,
जब आपकी उतर जाए तब मैं चेक-अप के लिए दोबारा आ जाऊंगा ।


संता (बंता से)-अरे यार, यह बता कि अक्ल बड़ी या भैंस?

बंता- रुक, सोचने दे जरा..(थोड़ी देर सोचने के बाद)

बंता- मुझे बेवकूफ समझा है क्या? पहले डेट ऑफ बर्थ तो बता दोनों के!


बंता: अरे यार संता तुम जो तोता लाये थे, कैसा है वो?

संता: क्या बताऊँ यार कल हमारा तोता पेट्रोल पी गया।

बंता: अरे, फिर क्या हुआ?

संता: होना क्या था तड़पा, चीखा, फड़फड़ाया, उड़ा तो छत से जा कर टकराया,
फिर कई बार कमरे में गोल- गोल उड़ा और कई बार चारों दीवारों से टकराया।

बंता: फिर?

संता: फिर उड़ कर हॉल में पहुंच गया। वहां भी अंधों की तरह खूब टककरें मारीं।
फिर किचन में पहुंच गया। वहां तो बहुत ही तड़पा, कई बर्तन फोड़ दिए।
फिर बैडरूम में पहुंचा तो सीधा जाकर ड्रेसिंग टेबल के शीशे से टकराया।
शीशा चकनाचूर हो गया और उन्ही टुकड़ों में वो भी फर्श पर ढेर हो गया।

बंता: ओह, फिर मर गया?

संता: नहीं मरा तो नहीं पर मुझे लगता है पेट्रोल ख़त्म हो गया होगा।


टीचर(स्टूडेंट से)-जिस आदमी के दोनों हाथ न हो
उसे हिंदी और इंग्लिश में क्या कहेंगे?

संता-हिंदी में ठाकुर और इंग्लिश में हैंड्स फ्री।


संता: बंता यार, तूने तो कहा था कि यहां घुटने-घुटने तक पानी है,
लेकिन मैं तो डूबने वाला था।

बंता: बात यह है कि मैंने सुबह बतखों को इस पानी से गुजरते हुए देखा था।
उनके तो घुटने-घुटने तक ही पानी था।


संता अपनी बिल्ली से तंग आकर उसे दूर छोड़ आए।

घर आए, तो बिल्ली वापस आ चुकी थी।

वह दूसरी बार छोड़ आए, और बिल्ली फिर वापस आ गई।

तीसरी बार उसे बहुत दूर जंगल में छोड़कर आए।
वापसी में अम्मा को फोन करके पूछा, क्या बिल्ली घर आ गई?

अम्मा- हां

संता-उस कमीनी को भेज यहां, मैं रास्ता भूल गया हूं।


संता-जब मेरी नई नई शादी हुई थी तो मुझे मेरी बीवी इतनी प्यारी लगती थी कि
मन करता था खा जाऊं।

बंता- और अब?

संता- खा ही जाता तो अच्छा था।


संता : बंता, मैं जो कविता अब सुनाने जा रहा हूं ,

उसका शीर्षक है आग, पानी और धुआं।

बंता: तो एक शब्द में क्यों नहीं बोलता कि हुक्का है।


बंता ने हज़ामत की दूकान खोली,

एक दिन संता शेव कराने आया.

बंता: मुछ रखनी है?

संता: हाँ

बंता (मुछ काट कर): ले रख ले जहा रखनी है!


funny jokes. Santa Banta Comedy

संता ट्रैफिक पुलिस में जॉब के लिए इंटरव्यू देने गया।

इंटरव्यूअर- एक आदमी गधे की सवारी करता हुआ रोड से जा रहा है
और उसने हेलमेट नहीं पहना है, तो क्या आप उसे दण्डित करेंगे?

संता-नहीं।

इंटरव्यूअर- क्यों?

संता-क्योंकि हेलमेट 2 व्हीलर के लिए जरूरी है, 4 व्हीलर के लिए नहीं।


संता अपनी पत्‍‌नी के साथ किसी की शादी में गया।

थोड़ी देर बाद पत्‍‌नी ने संता को किसी महिला से घुल-मिलकर हंसते हुए बातें करते देखा।

संता की पत्‍‌नी- ये दवाई मैं घर पहुंचकर तुम्हारे सिर के घाव पर लगा दूंगी।

संता- लेकिन मेरे सिर में घाव कहां है?

संता की पत्‍‌नी- अभी हम घर भी कहां पहुंचे हैं?


आलसी संता और बंता कमरे में लेटे हुए थे।

तभी बंता, संता से बोला- यार, जरा बाहर जाकर तो देख, बारिश हो रही है क्या?

संता- हां, बारिश हो रही है।

बंता- बिना बाहर देखे तुझे कैसे पता?

संता-अभी-अभी कांता बाई भीगी हुई अंदर आई थीं। मतलब बारिश हो रही है।

फिर बंता बोला- अच्छा, जरा बत्ती तो बुझा दे यार। रोशनी में नींद नहीं आती।

संता- आंखें बंद कर ले, अपने आप अंधेरा हो जाएगा।

बंता फिर गुस्से से बोला-कम से कम दरवाजा तो बंद कर दे!

संता- अब दो काम मैंने कर दिए, एक-आध तू खुद भी कर ले।


संता शराबी – भाई साहब, टाइम क्याहुआ ?

राहगीर – सात बजकर पच्चीस मिनट ।

संता शराबी – स्साला …. सुबह से पूछ रहा हूं,
हर कोई अलग-अलग टाइमबता रहा है …..


संता अपने खेतों पर गया हुआ था। वहां कुंए की जगत पर बैठे एक मेंढ़क से उसकी बहस हो गई।
मेंढ़क – तुम्हारे पास दिमाग नहीं है ।
संता – है ।
मेंढ़क – नहीं है ।
संता – है ।
मेंढ़क – नहीं है, नहीं है, नहीं है …..
और इतना कहकर मेंढ़क कुंए में कूदगया ।

संता – अरे नहीं है तो नहीं है परइसमें खुदकुशी करने वाली क्या बात थी ……


वह एक बिल्डिंग की चालीसवीं मंजिल पर खड़ा हुआ था कि
तभी उसके मोबाइल की घंटी बजी।
उधर से किसीने कहा – संता, अभी अभी तेरी बीबी प्रीतो एक्सीडेंट में मर गई ….. !

मारे दु:ख के उसने फौरन चालीसवीं मंजिल से ही छलांग लगा दी।
जब वह तीसवीं मंजिल के पास पहुंचा,
तब उसने सोचा कि ये प्रीतो कौन है ?
इसे तो मैं जानता ही नहीं ….

बीसवीं मंजिल पर …….
मेरी तो अभी शादी ही नहीं हुई ।

दसवीं मंजिल पर …….
यार, मेरा नाम तो बंता है, संता नहीं…………..
राम नाम सत्य है …..


संता ने अपने मित्र बंता को फोन किया।
संता : यार मैं बड़ी मुश्किल में फंस गया हूं।
मेरी कार के कार्बुरेटर में पानी भर गया है।

बंता : कार्बुरेटर में पानी ? बड़ी अजीब बात है।

संता : हां, हां कार्बुरेटर में पानी । तुम जल्दी से यहां आ जाओ ।

बंता : अरे बेवकूफ, तुम्हें पता भी है कार्बुरेटर किसे कहते हैं ।
फिर से चेक करो। बताओ कार कहां है ?
संता : स्वीमिंग पूल में ….


गुरु जी:
कर्मण्येवाधिकारस्ते मां फलेषु कदाचन।।
सन्ता, इसका अर्थ बता?

सन्ता –
काम नही होने से
राधिका रस्ते पर घूम रही है
कदाचित उसे फल खरीदने होंगे!

😛😂😂😂😆

गुरूजी :
बहूनि मे व्यतीतानि जन्मानि तव चार्जुन!
इसका क्या अर्थ है ?

सन्ता : मेरे अनेक जन्म हो चुके है
पर तेरा जन्म चार जून को हुआ हे !

😜😝😎

गुरूजी : अरे मूर्ख…चल अब बता..
“दक्षिणे लक्ष्मणोयस्य वामे तु जनकात्मजा” का क्या अर्थ है?

सन्ता : दक्षिण की ओर से आकर लक्ष्मण बोला..
जनक… तुम्हारा तो मजा है !

😂😝😜😆

गुरूजी- चल इसका अर्थ ही बता दे
” हे पार्थ त्वया चापि मम चापि…!”

सन्ता- हे अर्जुन तुम भी चाय पियो मैं भी चाय पीता हूँ।

😛😛

गुरूजी अभी तक कोमा में हैं।


संता (बंता से): और सुना यार, बीवी से झगड़ा खत्म हुआ या नही?

बंता: अबे घुटनों पर चल कर आयी थी मेरे पास, घुटनों पर।

संता: क्या बात कर रहा है, सच में..

बंता: और नहीं तो क्या।
संता: फिर क्या बोली?

बंता: बोली बेड के नीचे से बाहर आ जाओ, पक्का अब नही मारुंगी।


अमेरिका से संता का एक दोस्त भारत घूमने आया तो
संता उसे घुमाने ले गया।
क़ुतुब मीनार के पास पहुँच कर संता का दोस्त उससे बोला।

दोस्त: ये क़ुतुब मीनार कितने दिन में बना है ?
संता: एक महीने में।

दोस्त: ये हमारे मुल्क में तो 2 हफ्ते में बन जाता है।

थोडा आगे जाने के बाद दोस्त ने फिर संता से पूछा।

दोस्त: ये लाल किला कितने दिन में बना है?

संता: सिर्फ दो हफ्ते में।
दोस्त: हमारे मुल्क में तो 3 दिनों में बन जाता है।

जब वे दोनों ताज महल के पास से गुज़रे तो दोस्त ने संता से फिर पूछा।

दोस्त: ये ताज-महल कितने दिन में बना है ?
संता: मैं खुद हैरान हूँ की कब बना, कल शाम को तो नहीं था।


एक बार संता और बंता दोनों मोटरसाइकिल पर जा रहे थे।
रास्ते में उनका एक्सीडेंट हो गया। दोनों को अस्प्ताल ले जाया गया।

डॉक्टर ने बंता की मरहम पट्टी की तो उसने बड़ी चीख़-पुकार मचाई।
सारा अस्प्ताल सिर पर उठा लिया।

जब संता की बारी आयी तो वो बड़े आराम से पट्टी बंधवाता रहा।

डॉक्टर बंता से: देखो यह कितना बहादुर इंसान है
कितने आराम से पट्टी बंधवा ली।

इतने में संता बोला: नहीं डॉक्टर साहब,
दरअसल इसकी चीखें सुनकर मैं इतना डर गया था
कि मैंने अपनी दूसरी टांग पर पट्टी बंधवा ली जो बिलकुल ठीक है!

more funny jokes–

1.very funny Deshi jokes in Hindi हंसी से भरपूर
2. top 10 new jokes in hindi indian jokes

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here