Download Image

 Please wait while your url is generating... 3

Hindi Poetry | 99+ Best हिंदी कविताएं | Best Hindi Poems | Hindi Kavita

Hindi Poetry (हिंदी कविता): If you like to read poetry and you were looking for the best poems, then you are in the right place. Here you will find the best Hindi poetry on life, famous heart-touching short Hindi Poetry, and sad Love Poetry in Hindi.

Best Heart Touching Poetry

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 1
Hindi poetry

उसकी अहमियत बताना भी ज़रूरी है – हिंदी कविता

उसकी अहमियत है क्या, बताना भी ज़रूरी है !
है उससे इश्क़ अग़र तो जताना भी ज़रूरी है !!

अब काम लफ़्फ़ाज़ी से तुम कब तक चलाओगे !
उसकी झील सी आंखों में डूब जाना भी ज़रूरी है !!

दिल के ज़ज़्बात तुम दिल मे दबा कर मत रखो !
उसको देख कर प्यार से मुस्कुराना भी ज़रूरी है !!

उसे ये बारहा कहना वो कितना ख़ूबसूरत है !
उसे नग्मे मोहब्बत के सुनाना भी ज़रूरी है !!

किसी भी हाल में तुम छोड़ना हाथ मत उसका !
किया है इश्क़ गर तुमने, निभाना भी ज़रूरी है !!

सहर अब रूठना तो इश्क़ में है लाज़मी लेकिन !
कभी महबूब गर रूठे तो मनाना भी ज़रूरी है !!
😊🌹✍️

Sad Poetry in Hindi

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 2
Hindi poetry

जीना सिखाए जा रहा है हिंदी कविता

दिन-बदिन,
तेरी आदत मुझको लगाए जा रहा है।

तुझे पाया नहीं अबतक,
तुझे खोने का डर सताए जा रहा है।

मेरे हाथों से छीनकर,
अपने हिसाब से जिंदगी चलाए जा रहा है।

तेरे आने से,
दिल मेरा, अब उसको भुलाए जा रहा है।

कुछ हुआ है अलग,
तेरे आने से, बताए जा रहा है।

एक बार फिर से,
मुझको जीना, सिखाए जा रहा है।
❤️🌹✍️

Best Hindi Poetry on Life

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 3
Hindi poetry

तेरा साथ न मिला हिंदी कविता

हाथ थाम कर भी तेरा सहारा न मिला
में वो लहर हूँ जिसे किनारा न मिला

मिल गया मुझे जो कुछ भी चाहा मैंने
मिला नहीं तो सिर्फ साथ तुम्हारा न मिला

वैसे तो सितारों से भरा हुआ है आसमान मिला
मगर जो हम ढूंढ़ रहे थे वो सितारा न मिला

कुछ इस तरह से बदली पहर ज़िन्दगी की हमारी
फिर जिसको भी पुकारा वो दुबारा न मिला

एहसास तो हुआ उसे मगर देर बहुत हो गयी
उसने जब ढूँढा तो निशान भी हमारा न मिला
💔🥀✍️

Heart Touching Love Poetry In Hindi

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 4
Hindi poetry

थोड़ा थक सा जाता हूं अब मै… हिंदी कविता

“थोड़ा थक सा जाता हूं अब मै…
इसलिए, दूर निकलना छोड़ दिया है,
पर ऐसा भी नही हैं कि अब…
मैंने चलना ही छोड़ दिया है।

फासलें अक्सर रिश्तों में…
अजीब सी दूरियां बढ़ा देते हैं,
पर ऐसा भी नही हैं कि अब मैंने..
अपनों से मिलना ही छोड़ दिया है।

हाँ जरा सा अकेला महसूस करता हूँ…
खुद को अपनों की ही भीड़ में,
पर ऐसा भी नहीं है कि अब मैंने…
अपनापन ही छोड़ दिया है।

याद तो करता हूँ मैं सभी को…
और परवाह भी करता हूँ सब की,
पर कितनी करता हूँ…
बस, बताना छोड़ दिया है।।”
😇💯✍🏻

Best Poetry In Hindi about life

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 5
Hindi poetry

तेरा इश्क भूल जाएं तो बेहतर है हिंदी कविता

अब तो तेरा इश्क भूल जाएं तो बेहतर है।
तू अब लौट कर ना ही आए तो बेहतर है।

ज़िन्दगी अब ज़िन्दगी ना रही मगर क्या कहें
तेरे साथ जितनी गुजारी उससे तो बेहतर है।

तुम कह गए थे खुश रहना मेरे बाद मगर
इस तरह की खुशी से तो गम बेहतर है।

मुझे छोड़ कर चुना तुमने किसी और को
चलो मान लिया तुम्हारे लिए वो बेहतर है।

बेशक रुलाती है मगर बेवफ़ा तो नही है।
तुम्हारे चले जाने से तो तुम्हारी यादें बेहतर हैं।
💔💯✍🏻

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 6
Hindi poetry

वो बातें मेरे ही जेहन में सब दबी निकली हिंदी कविता

वो बोलता रहा इक बात ना नयी निकली,
जो उसने बोला वो सब बात ही कही निकली!

सुनाता सबको अगर मैं कहीं गलत होता,
यकीन मानो न मुझमें कोई कमी निकली!

जो शक था मेरा मेरे वो भी सामने आया,
खुशी हुई कि मेरी उलझने सही निकली!

मुझे तलाश थी जिस चीज़ की जमाने में,
वो चीज मेरे ही आंगन में तब छुपी निकली!

भुलाना चाहा तो वो याद फिर बहुत आयी,
वो बातें मेरे ही जेहन में सब दबी निकली!!
🥀❣️✍🏻

Heart Touching Kavita in Hindi

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 7
Hindi poetry

ख़ुदा तू भी नहीं, मैं भी नहीं हिंदी कविता

गलतियों से जुदा तू भी नहीं और मैं भी नहीं,
दोनों इंसान हैं खुदा तू भी नहीं, मैं भी नहीं।

गलतफहमियों ने कर दी दोनों में पैदा दूरियां,
वरना फितरत का बुरा तू भी नहीं मैं भी नहीं।

अपने अपने रास्तों पे दोनो का सफ़र जारी रहा,
एक लम्हें को रुका तु भी नहीं मैं भी नहीं ।

चाहते बहुत थे दोनों एक दूसरे को
मगर ये हक़ीक़त मानता तु भी नहीं मैं भी नहीं।

गलतियों से जुदा तू भी नहीं और मैं भी नहीं,
दोनों इंसान हैं ख़ुदा तू भी नहीं, मैं भी नहीं।
😇❣️✍️

Sad Life Poetry

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 8
Hindi poetry

एक निशानी हूँ मैं हिंदी कविता

रख सकों तो एक निशानी हूँ मैं
खो दो तो सिर्फ एक कहानी हूँ मैं
रोक ना पाए जिसको ये सारी दुनिया
वो एक बूंद आँख का पानी हूँ मैं…

सबको प्यार देने की आदत है हमें
अपनी अलग पहचान बनाने की आदत है हमें
कितना भी गहरा जख़्म दे कोई
उतना ही ज्यादा मुस्कुरानें की आदत है हमें..

इस अजनबी दुनिया में अकेला ख़्वाब हूँ मैं
सवालों से खफा छोटा सा जवाब हूँ मैं
जो समझ ना सके मुझे उनके लिए कौन
जो समझ गए उनके लिए खुली किताब हूँ मैं..

आँख से देखोगे तो खुश पाओगे
दिल से पूछोगे तो दर्द का सैलाब हूँ मैं
अगर रख सकों तो एक निशानी हूं मैं
खो दो तो सिर्फ एक कहानी हूँ मैं…
😇🌹✍️

New Kavita In Hindi

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 9
Hindi poetry

मुस्कुरा दिया करता हूँ हिंदी कविता

उलझनें है बहुत
सुलझा लिया करता हूँ
फोटो खिंचवाते वक्त मैं अक्सर
मुस्कुरा दिया करता हूँ…!

क्यों नुमाइश करू मैं अपने
माथे पर शिकन की
मैं अक्सर मुस्कुरा के
इन्हें मिटा दिया करता हूँ

क्योंकि
जब लड़ना है खुद को खुद ही से……!
तो हार और जीत में कोई फर्क नहीं रखता हूं….!

हारूं या जीतूं कोई रंज नहीं
कभी खुद को जिता देता हूँ
कभी खुद ही जीत जाया करता हूं
इसलिए भी मुस्कुरा दिया करता हूँ..
😇✍️

Best Kavita In Hindi

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 10
Hindi poetry

कहानी अधूरी रह जाएगी – हिंदी कविता

शायद तेरी मेरी कहानी अधूरी रह जाएगी
हमारे इश्क़ की दास्तां यहीं दफन हो जाएगी

लगाएगी ये दुनिया हम पर हजारों बंदिशें लेकिन
हमारी प्रेम कहानी फिर भी अमर हो जाएगी

कुछ पल ही बिता पाएंगे एक दूसरे के साथ
फिर जिंदगी पता नहीं किस मोड़ पर ले आएगी

ना तू मेरे साथ, ना मैं तेरे साथ
एक दूसरे की कमी हमें बहुत सताएगी

लेकिन तू बेफिक्र होकर मुझ पर विश्वास करना
मेरे दिल में तेरी जगह किसी को ना मिल पाएगी

अभी तो हजारों रंग बदलेगी ये ज़िन्दगी
ना तू मुझे भूलना, ना मैं तुझे
ऐसे ही एक दूसरे की याद के साथ
जिंदगी गुजर जाएगी ।।
🥀😊✍️

Sad Kavita in Hindi

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 11
Hindi Kavita

खवाब से अब ज़रा जगने लगा हूँ – हिंदी कविता

खवाब से अब ज़रा जगने लगा हूँ
जिंदगी को बेहतर समझने लगा हूं।

उड़ता था शायद कभी ऊँची हवा में,
जमीं पर अब पैदल चलने लगा हूँ।

लफ़्ज़ों की मुझको ज़रूरत नहीं है,
चेहरों को जब से मैं पढ़ने लगा हूँ।

थक जाता हूं अक्सर अब शोर से,
खामोशियों से बातें करने लगा हूँ।

दुनियाँ की बदलती तस्वीर देख कर,
शायद मैं कुछ कुछ बदलने लगा हूँ।

नफ़रत के ज़हर को मिटाना ही होगा,
इरादा यह मज़बूत करने लगा हूँ।

परवाह नहीं कोई साथ आए मेरे,
मैं अकेला ही आगे बढ़ने लगा हूँ।
✍🏻✍🏻✍🏻

breakup Kavita Sad

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 12
Hindi Kavita

हर बार कसूर हवा का नही होता – हिंदी कविता

ऐ उम्र ?
कुछ कहा मैंने,
पर शायद तूने सुना नहीं..!
तू छीन सकती है बचपन मेरा,
पर बचपना नहीं..!!

हर बात का कोई जवाब नही होता…,
हर इश्क का नाम खराब नही होता…!
यूं तो झूम लेते है नशे में पीनेवाले..
मगर हर नशे का नाम शराब नही होता…!

खामोश चेहरे पर हजारों पहरे होते है….!
हंसती आखों में भी जख्म गहरे होते है….!
जिनसे अक्सर रुठ जाते है हम,
असल में उनसे ही रिश्ते गहरे होते है….!

किसी ने खुदा से दुआ मांगी.!
दुआ में अपनी मौत मांगी,
खुदा ने कहा, मौत तो तुझे दे दें मगर…!
उसे क्या कहूँ जिसने तेरी जिंदगी मांगी…!

हर इंन्सान का दिल बुरा नही होता…
हर एक इन्सान बुरा नही होता.
बुझ जाते है दीये कभी तेल की कमी से….!
हर बार कसूर हवा का नही होता..

Hindi Kavita Download

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 13
Hindi Kavita

कोई बदनसीब, कोई मुक़द्दर का सिक्कंदर क्यों है.. – हिंदी कविता

तेरी इस दुनिया में ये मंज़र क्यों है…
कहीं अपनापन तो कहीं पीठ में खंजर क्यों है…

सुना है तू हर ज़रे में है रहता,
फिर ज़मीं पर कहीं मस्जिद कहीं मंदिर क्यों है…

जब रहने वाले दुनियां के हर बन्दे तेरे हैं,
फिर कोई दोस्त तो कोई दुश्मन क्यों है..

तू ही लिखता है हर किसी का मुक़द्दर,
फिर कोई बदनसीब, कोई मुक़द्दर का सिक्कंदर
क्यों है..
😞✍️

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 14
Hindi Kavita

थोड़ा सा थका हूँ मगर रुका नही हूँ – हिंदी कविता

थोड़ा सा थका हूँ मगर रुका नही हूँ
ऐ ज़िन्दगी तेरी हालातों के आगे अभी झुका नही हूँ।

कांच के रिश्ते लिए फिर रहा हूँ इन पत्थरों के शहर में
ठोकरें लग रही है मगर अभी तक टूटा नहीं हूँ।

हम मिले थे शायद किसी रह गुज़र में कभी, गर याद हो तुझे
यकी कर आज भी उस मुलाकात को भुला नहीं हूँ।

यूं तो गम की बारिश रही मुझ पर मुसलसल
पर ख़ुदा के सजदे में कभी भीगा नही हूँ।

जितने थे तूफ़ान सब गुज़र गए मेरी लौ से
जाने किसकी दुआ है जो अभी तक बुझा नही हूँ।
😇🌹✍️

इश्क़ मोहब्बत हिंदी कविता

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 15
Hindi Kavita

यही जिंदगानी है – हिंदी कविता

यहाँ हर दिल मे एक अधूरी सी कहानी है।
तन्हाइयों में हर किसी की जिंदगी रूहानी है।

बाहर से हर चेहरा हंसता हुआ नजर आएगा
भीतर से टटोलोगे तो हर आंख में पानी है।

कुछ यादें लिए बैठे है कुछ किस्से लिए बैठे है।
यहां लोग एक दिल के कई हिस्से लिए बैठे है।
बैठिए किसी के पास कुछ पल हमराह बनकर
तभी जान पाओगे, दर्द में कितनी सुनामी है।

कोई “दर्द” कह देता है तो किसी को कहना नही आता
कोई पत्थर बन जाता है किसी को चुप रहना नही आता
सबकी आदत औरों को जानना है, और अपनी छुपानी है।
चुप रहकर जिम्मेदारियां निभानी है बस यही जिंदगानी है।

दिल छू जाने वाली कविता

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 16
Hindi Kavita

आंखों में क़ैद एक मंजर देखा है – हिंदी कविता

आंखों में क़ैद, एक मंजर देखा है,
मै प्यासा रहा, लेकिन समन्दर देखा है,

मुझे ना दिखाना खेल दुनियां के,
मैने हरियाली में भी, पेड़ो को बंजर देखा है।

बड़े अजीब है, तरीके यहां,
रिश्ते निभाने के,
एक हाथ में प्यार,और दूजे में,
खंजर देखा है,

मुझे ना दुआ देना इन बारिशों में,
फिर से जवां हो जाने की,
मैने बारिशों के बाद भी,
जमीं को बंजर देखा है,
🥀💯✍️

दर्द कविता डाउनलोड

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 17
Hindi Kavita

थोड़ी छांव भी जरूरी है – हिंदी कविता

ज़िन्दगी सीधे साधे चलना ठीक नही
उबड़ खाबड़ पड़ाव भी जरूरी है,

तैरते तैरते बाजू थक जाएंगे
एक पल के लिए नाव भी जरूरी है,

बदलाव भी जरूरी है
ये घाव भी जरूरी है,

इतनी धूप अच्छी नही
थोड़ी छांव भी जरूरी है..!
✍🏻✍🏻✍🏻

Hindi Poetry images Download

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 18
Hindi Kavita

जीना अभी बाकी है – हिंदी कविता

गुजर रही है उम्र,
पर जीना अभी बाकी हैं।
जिन हालातों ने पटका है जमीन पर,
उन्हें उठकर जवाब देना अभी बाकी हैं।

चल रहा हूँ मन्जिल के सफर मैं,
मन्जिल कौ पाना अभी बाकी हैं,
कर लेने दो लोगों को चर्चे मेरी हार के,
कामयाबी का शोर मचाना अभी बाकी हैं ।

वक्त को करने दो अपनी मनमानी,
मेरा वक्त आना अभी बाकी है,
कर रहे है सवाल मुझे जो loser समझ कर,
उन सबको जवाब देना अभी बाकी हैं।

निभा रहा हूँ अपना किरदार जिंदंगी के मंच पर
परदा गिरते ही तालीयाँ बजना अभी बाकी हैं,
कुछ नहीं गया हाथ से अभी तो,
बहुत कुछ पाना बाकी हैं…
✍️✍️✍️

Best Hindi Poetry With images

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 19
Hindi Kavita

हरिवंशराय बच्चन ने क्या खूब लिखा है – हिंदी कविता

यहाँ सब कुछ बिकता है,
दोस्तों रहना जरा संभल के!
बेचने वाले हवा भी बेच देते है,
गुब्बारों में डाल के।

सच बिकता है, झूट बिकता है,
बिकती है हर कहानी!
तीन लोक में फैला है,
फिर भी बिकता है बोतल में पानी!

कभी फूलों की तरह मत जीना,
जिस दिन खिलोगे…
टूट कर बिखर जाओगे।

जीना है तो पत्थर की तरह जियो;
जिस दिन तराशे गए
उसदिन “खुदा” बन जाओगे।।
💯🙏✍️

End of Life Kavita

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 20
Hindi Kavita

जहाँ खामोश रहना है, वहाँ मुँह खोल जाते है – हिंदी कविता

कहाँ पर बोलना है, और कहाँ पर बोल जाते हैं।
जहाँ खामोश रहना है, वहाँ मुँह खोल जाते हैं। ।
कटा जब शीश सैनिक का, तो हम खामोश रहते हैं।
कटा एक सीन पिक्चर का, तो सारे बोल जाते हैं।
नयी नस्लों के ये बच्चे, जमाने भर की सुनते हैं।
मगर माँ बाप कुछ बोले, तो बच्चे बोल जाते हैं।।
बहुत ऊँची दुकानों में, कटाते जेब सब अपनी।
मगर मज़दूर माँगेगा, तो सिक्के बोल जाते हैं।।
अगर मखमल करे गलती, तो कोई कुछ नहीं कहता।
फटी चादर की गलती हो, तो सारे बोल जाते हैं।
हवाओं की तबाही को, सभी चुपचाप सहते हैं।
च़रागों से हुई गलती, तो सारे बोल जाते हैं।।
बनाते फिरते हैं रिश्ते, जमाने भर से अक्सर हम
मगर घर में जरूरत हो, तो रिश्ते भूल जाते हैं।।
कहाँ पर बोलना है, और कहाँ पर बोल जाते हैं।
जहाँ खामोश रहना है, वहाँ मुँह खोल जाते हैं। ।

Short poetry in Hindi

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 21
Hindi poetry

मैं रोने से डरता हूँ हिंदी कविता

मैं रोने से डरता हूँ, जुदा होने से डरता हूँ
मेरी आँख बताती है कि मैं सोने से डरता हूँ

मेरी उँगली पकड़ लेना, मुझे तन्हा नहीं करना
ये दुनियाँ एक मेला है इसलिए तुम्हे खोने से
डरता हूँ

जब हँसता हूँ तो क्यों पलकें भीग जाती हैं ।
तुम्हें मालुम है मैं इस तरह रोने से डरता हूँ

जब से ये ख़्वाब देखा है तुम मुझे छोड़ जाओगे
मैं डरता हूँ ख़्वाबों से, मैं अब सोने से डरता
हूँ❣️🥀

Heart Touching poetry

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 22
Hindi poetry

सफ़र में धूप तो होगी हिंदी कविता

सफ़र में धूप तो होगी जो चल सको तो चलो
सभी हैं भीड़ में तुम भी निकल सको तो चलो

किसी के वास्ते राहें कहाँ बदलती हैं
तुम अपने आप को ख़ुद ही बदल सको तो चलो

यहाँ किसी को कोई रास्ता नहीं देता
मुझे गिरा के अगर तुम सँभल सको तो चलो

कहीं नहीं कोई सूरज धुआँ धुआँ है फ़ज़ा
ख़ुद अपने आप से बाहर निकल सको तो चलो

यही है ज़िंदगी कुछ ख़्वाब चंद उम्मीदें
इन्हीं खिलौनों से तुम भी बहल सको तो चलो

-निदा फाजली

Hindi poetry on Love

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 23
Hindi poetry

तु दूर होके भी मेरे पास है हिंदी कविता

तु दूर होके भी मेरे पास है।
जैसे पहले थी आज भी उतनी ही खास है।

तुझे लगता है भूल गया हूं सब
अरे पगली अभी तो प्यार की शुरुआत है!

तुझे तो फर्क ही नहीं पड़ता!
मेरे ना होने पर भी हर खुशी तेरे पास है!

तु दूर होके भी मेरे पास है।
जैसे पहले थी आज भी उतनी ही खास है।❣️

Beautiful Hindi poetry on women

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 24
Hindi poetry

बहुत हो गया जवाब देना हिंदी कविता

बहुत हो गया जवाब देना
सवाल ही रहने देते है ना

सफाई देकर थक गए हैं अब
खुद से इश्क कर लेते है ना

वो खुश है हमें रुलाकर तो
उसे खुश रहने देते है ना

हजारों गम है जीवन में
थोड़ा और सह लेते है ना..

Hindi Poetry on life

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 25
Hindi poetry

रब” ने नवाजा हमें जिंदगी देकर हिंदी कविता

रब” ने नवाजा हमें जिंदगी देकर;
और हम “शौहरत” मांगते रह गये;
जिंदगी गुजार दी शौहरत के पीछे;
फिर जीने की “मौहलत” मांगते रह गये।

ये कफन ये जनाज़े, ये “कब्र”
सिर्फ बातें हैं मेरे दोस्त,,
वरना मर तो इंसान तभी जाता है।
जब याद करने वाला कोई ना हो…!!

ये समंदर भी तेरी तरह खुदगर्ज़ निकला,
जिंदा थे तो तैरने न दिया और
मर गए तो डूबने न दिया ..

क्या बात करे इस दुनिया की
“हर शख्स के अपने अफसाने हैं”
जो सामने हैं उसे लोग बुरा कहते हैं,
जिसको देखा नहीं उसे सब “खुदा” कहते हैं!!!

-हरिवंश राय बच्चन

Sad poetry in Hindi

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 26
Hindi poetry

झूठ भी बोलना पड़ता हैं हिंदी कविता

झूठ भी बोलना पड़ता हैं,सच भी
छुपाना पड़ता है…
ज़िन्दगी जीने के लिए हर रास्ता
अपनाना पड़ता है..
शरीफ लोगों को जीने कहा
देते हैं,कभी कभी बुरा भी बन जाना
पड़ता है…
ये ज़िन्दगी हैं साहब…
यहाँ दर्द छुँपाकर भी मुस्कुराना
पड़ता है…✍️

Love Poetry In Hindi

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 27
Hindi poetry

अचानक ज़िन्दगी में कभी हिंदी कविता

अचानक ज़िन्दगी में कभी,
एक अन्जान सा शख्स आता है…
जो दोस्त भी नहीं, हमसफ़र भी नही,
फिर भी दिल को बहुत बहुत भाता है

ढेरों बाते होती हैं उस से,
हज़ारों दुख सुख भी बंटते हैं,
जो बातें किसी से नहीं करते थे,
वो भी हम उस से करते हैं

है तो वो अनजाना सा,
पर दिल को बहुत वो,
जाना पहचाना सा लगता है …
कोई रिश्ता नहीं है उससे,
फिर भी उसकी हर बात
मानने का दिल करता है….

कोई हक नहीं है उस पर हमारा
फिर भी उस पर हक जताना
हमको अच्छा लगता है ..
जब कुछ भी सुनने का मन ना हो तब भी,
उसको सुनना अच्छा लगता है,

Sad Poem In Hindi

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 28
Hindi poetry

दिल जब घबराये तो खुद को एक किस्सा सुना देना हिंदी कविता

दिल जब घबराये तो खुद को एक किस्सा
सुना देना
जिन्दगी कितनी भी मुश्किल क्यूँ ना हो
मुस्कुरा देना..

आसानी से सब कुछ हासिल हो तो उसकी
कदर कहाँ?
जरूरी है कुछ पाने के लिए कुछ गंवा देना..

जाहिर है मुसीबतों में साथ कोई अपना नहीं रहता
चुप रहना बेशक आँख से एक कतरा बहा देना…

शिकायतें सिर्फ दिल मैला करती हैं और कुछ नहीं
आसान है गले मिल कर कभी सब कुछ भूला देना

बीते हुए दौर की बातें याद कर क्या हासिल प्यारे
क्या जरूरी है कल की याद में अपने आज को सज़ा देना…

कुछ कमियां हम सब में है, ये जानते हैं हम
बहुत बड़ी बात है,, किसी के ऐब को बे-वजह
छुपा देना..

बेहतरीन हिंदी कविताएं

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 29
Hindi poetry

बेवजह जज़्बातों को जगाते ही क्यूँ हो हिंदी कविता

बेवजह जज़्बातों को जगाते ही क्यूँ हो,
गर यकीं नहीं तो दिल लगाते ही क्यूँ हो!

जब आकर चले जाना फितरत में है तेरी,
तो बेवजह जिन्दगी में आते ही क्यूँ हो!

अपना नहीं सकते जिसे उम्रभर के लिए,
उसे जमाने से अपना बताते ही क्यूँ हो!

जिन रिश्तों को समेटना आता नहीं तुम्हें,
उन रिश्तों को फिर आजमाते ही क्यूँ हो!

जब वजह दे नहीं सकते पलभर मुस्कुराने की,
तो खामखां इस तरह से रुलाते ही क्यूँ हो!!

-Deepak

Couple Poetry In Hindi

Hindi Poetry Hindi Kavita Funky Life 30
Hindi poetry

कुछ ऐसा कर जाओ हिंदी कविता

मेरी आँखे ना देखो तुम,
मेरे दिल में उतर जाओ
जमाना जिसको ना माने,
आज कुछ ऐसा कर जाओ

चुरा लो सांस तुम मेरी,
मेरे हर लब्ज ले जाओ
कोई सुने तो बस रो दे,
गीत कुछ ऐसा तुम गाओ

चले जाओ वहाँ पर तुम,
जहाँ मीलों तक कोई ना हो
फिर जब मन गवाही दे,
मुझे भी साथ ले जाओ

करो फिर स्पर्श तुम मुझको,
मेरे बालों को सहलाओ
बढ़ा कर प्यास तुम मेरी,
मेरे अंतर को छु जाओ

नसों में सांस भर जाओ,
मधुर एहसास भर जाओ
जो मर कर भी ना मैं भूलूँ,
कुछ ऐसा खास कर जाओ

-राही


Best Hindi Poetry On Sad Love – मिरि ये रूह प्यासी है तिरे ख्वाबों में आने को बेहतरीन हिंदी कविता।

मिरी ये रूह प्यासी है तिरे ख्वाबों में आने को,
मैं रोया खून के आंसू तुझे अपना बनाने को !

मिली है बस ये तन्हाई, वफ़ा है आरजू मेरी,
जली अरसों निगाहे ये तुझे बस देख पाने को ।

बदन की चाँदनी तेरी अगर प्याले में ढल जाऐ,
शराबी भूल बैठेगा शराबों के ख़ज़ानों को।

ये जो बेहोश बैठा है वो मेरा होश ही होगा,
अभी अरसा लगेगा और इसको होश पाने को।

मरा वो जिस्म तो देखो जो शायद तक मिरा होगा,
यहीं मैं रोज़ मरता हूँ नई लाशें बनाने को।

मिरी ये साँस की उलझन तेरा ही नाम लेती है,
मिरा ये ख्वाब है सोया तेरे ख्वाबों में आने को ।

मिरे इस दर्द की मंज़िल कभी तुम जानती थी क्या?
मैं कितनी रात जागा हूँ, फ़लक को यूँ सजाने को!

मिरे इस दिल की डोरी है ये तेरी रेशमी जुल्फ़ें,
गले से तुम लिपट जाओ मुझे भी बांध जाने को ।
– प्रयास शर्मा “आशुतोष”

Sad Hindi Poetry – दिल का दर्द बयाँ करती एक खूबसूरत कविता।

बची हर सांस गिनता हूँ, तेरी साँसों में ठहरा हूँ,
दबी हर बात सुनता हूँ, तेरी बातों सा गहरा हूँ ।

ज़माने से न भागा हूं, ज़माने में ही उतरा हूँ,
तेरे राज़ों को रख दिल में, ज़मी पर आज बिखरा हूँ।

दिलों में जख्म है ढेरों, कई है दर्द के किस्से,
बची है अब ज़फा तेरी, उसी से बस मैं तेरा हूँ।

यही बस सोचता हूँ मैं कि ये अब राज़ है कैसा?
मैं सोचूँ ये ही बस दिनभर, मैं तेरा हूँ या मेरा हूँ!

मैं जो भी दर्द लिखता हूँ उसे तू रोज़ गाती है,
कभी ना दूर तुझसे हूँ लबों का गीत तेरा हूँ।

ये कैसी बेरुखी तेरी जो अब तक दूर तू मुझसे,
ये मेरे दिल की हमदर्दी, मैं अब भी अक्स तेरा हूं।

ये दरवाज़े भले ही बंद कर लेना तेरे दिल के,
मगर ये याद रखना तुम ,इसी पट का मै पहरा हूँ।

ये मेरा और तेरा दिल फ़लक पर ही चमकता था,
मैं अब टूटा सितारा हूँ ज़मी पर आज ठहरा हूँ।

मैं तारा हूँ तेरे दिल का मुकम्मल आसमां तू है,
मुकम्मल दिल हवेली है, फ़क़त उसका मैं कमरा हूँ।

तू पूरा है समंदर सुन तू पूरा आसमां भी है,
बची छोटी ज़मी तेरी ,बचा उसका मैं ज़र्रा हूँ।

मैं अब आवाज़ दूं तुझको , ये हिम्मत ना बची मुझमें
फसा हूँ ज़ख्म में इतने, लबो का बोल ठहरा हूँ।
©प्रयास शर्मा ‘आशुतोष

Best Hindi Poetry Lines On Life – किसी का साथ दे पाओ तो बेहतर है, बेहद ही खूबसूरत कविता।

किसी का सहारा ना बन के …
साथ दे पाओ तो बेहतर है ..
उजाले में तो सभी मिलते हैं गले …
अंधेरों में हाथ दे पाओ तो बेहतर है .

कुछ लोगों को नहीं है दरकार..
किसी कीमती तोहफे की यहां…
इस भागती दौड़ती दुनिया में..
तुम उन्हें अपने कीमती वक़्त की …
ज़रा सी सौगात दे पाओ तो बेहतर है ..
कुछ खामोशियों में छुपी होती हैं कई बातें..
हंसते हुए चेहरों के पीछे कई दर्द पलते हैं ..
यूं तो मुमकिन नहीं है हर दिल को समझ पाना यहां ..
तुम समझने की कुछ कोशिश भी कर पाओ तो बेहतर है ..
-Rangrez

Poetry Status In Hindi – अगर हम सच में बुरे होते तो सोचो कितना बवाल होता बेहतरीन कविता

समन्दर का पानी शराब होता तो
सोचो कितना बवाल होता,
हक़ीक़त, ख़्वाब होते तो सोचो
कितना बवाल होता…

किसी के दिल में क्या छुपा हैं ये
बस ख़ुदा ही जानता है,
दिल अगर बेनक़ाब होते तो सोचो
कितना बवाल होता…

थी ख़ामोशी हमारी फ़ितरत में तभी
तो बरसो निभाई लोगों से,
अगर मुँह में हमारे जवाब होते तो
सोचो कितना बवाल होता…

हम तो अच्छे थे पर लोगों की
नजर में हमेशा बुरे ही रहें,
कहीं हम सच में बुरे होते तो सोचो
कितना बवाल होता…

Emotional Poetry On Sad Love – टूटे दिल का दर्द बताती बेहद ही खूबसूरत हिंदी कविता।

कुछ कहना था,
तुने सुना ही नहीं।

हाथ बढ़ाया तो था,
तुने थामा ही नहीं।

तेरे संग चलना था,
तु रुका ही नहीं।

तेरे खातिर ही तो हमने अपने रास्ते बदले थे ना,
पर तुने तो देखा तक नहीं।

तेरे साथ ही तो चाहा था अपना नाम जोड़ना,
पर तु तो मेरा कभी था ही नहीं।।💔

Hindi Poetry about Life – वक्त के साथ सबकुछ बदल जाता है, वापस बीते हुए जमाने नही आते हिंदी कविता

उठ जाता हूं..भोर से पहले.. सपने सुहाने नही आते…
अब मुझे स्कूल न जाने वाले…बहाने बनाने नही आते..

कभी पा लेते थे..घर से निकलते ही..मंजिल को..
अब मीलों सफर करके भी…ठिकाने नही आते…

मुंह चिढाती है..खाली जेब. महीने के आखिर में,.
अब बचपन की तरह..गुल्लक में पैसे बचाने नही आते..

यूं तो रखते हैं..बहुत से लोग..पलको पर मुझे..
मगर बेमतलब बचपन की तरह गोदी उठाने नही आते..

माना कि.जिम्मेदारियों की..बेड़ियों में जकड़ा हूं..
क्यूं बचपन की तरह छुड़वाने..वो दोस्त पुराने नही आते..

बहला रहा हूं बस दिल को बच्चों की तरह.
मैं जानता हूं.फिर वापस बीते हुए जमाने नही आते!
Bhuneshwar

Beautiful Hindi Poetry On Happy Life खुशहाल जीवन जीने के तरीक़े बताती एक खूबसूरत कविता।

हर नक़्श ज़हन से मिटा के सोया कर।
तू ये सारी दुनिया भुला के सोया कर।

क्या खोया क्या पाया क्या ढूँढ रहा है।
खुदा को सब कुछ बता के सोया कर।

नींद भले कितनी ही गहरी हो जाये।
पर ख्वाबों को जगा के सोया कर।

मखमली अहसास तुझे सोने नही देगा।
ज़मीन पर बिस्तर बिछा के सोया कर।

कल फिर से मुलाक़ात दुनिया से होगी।
ये चराग ए उम्मीद जला के सोया कर।

दिए की लौ हर शब् बुझ ही जाती है।
एक आग सीने में लगा के सोया कर।

मशीनी दौर में अहसास न मर जाएँ।
दो चार आँसू भी बहा के सोया कर।
BHUNESHWAR

Beautiful Poetry On Love Life – लोगों के अंदर एक नई उम्मीद बढ़ाने वाली खूबसूरत हिंदी कविता।

कोई महफ़िल नहीं है, कोई यार नहीं है,
कैसा दौर है कि मेरे साथ मेरे दिलदार नहीं है।

मत घबरा ऐ दिल, है ये दौर कुछ वक़्त का,
हमेशा के लिए तो तू भी मेहमान नहीं है।

वक़्त बदल देता है हर आलम और हालात,
हमेशा तो कभी गम की बरसात नहीं है।

आयेगी तेरे बेपरवाह होकर जीने की रातें भी,
बस समझ ले अभी तेरे लिए कुछ आराम नहीं है।

देखें है ऐसे वक़्त तूने पहले भी जिंदगी में बहुत,
इस वक़्त को बिताना तेरे लिए इक इम्तहान नहीं है।

तेरे लिये सोच रखे होंगे कुछ बेपनाह खुशनुमा लम्हें,
ऊपरवाले के ख्यालों में बस गम के हालात नहीं है।

Behatareen Hindi Kavita – जो बीत गया है वो गुजर क्यूँ नहीं जाता कवी की एक बेहतरीन रचना

बे-नाम सा ये दर्द ठहर क्यूँ नहीं जाता
जो बीत गया है वो गुजर क्यूँ नहीं जाता

सब कुछ तो है क्या ढूँढती रहती हैं निगाहें
क्या बात है मैं वक्त पे घर क्यूँ नहीं जाता

वो एक ही चेहरा तो नहीं सारे जहाँ में
जो दूर है वो दिल से उतर क्यूँ नहीं जाता

मैं अपनी ही उलझी हुई राहों का तमाशा
जाते हैं जिधर सब मैं उधर क्यूँ नहीं जाता

वो ख़्वाब जो बरसों से न चेहरा न बदन है।
वो ख़्वाब हवाओं में बिखर क्यूँ नहीं जाता।।

Life Poetry In Hindi – इंसान गुज़रा हुआ कल ढूंढता है कविता

हर इंसान गुज़रा हुआ कल ढूंढता है,
खुशियों से भरा वो पल ढूंढता है।

परेशानियां तो आयेंगी ही जीवन में
फिर भी गमों से लड़ने के लिए वो हल ढूंढता है।

हर इंसान परेशान क्यों है
दिल में ग़म और लबो पर लाखों सवाल क्यों है।

ये खुदा एक इंसान भी नहीं जो दिल कि
बातों को समझे
पर दिल तोड़ने वाला हजार क्यों है।
-BHUNESHWAR

Truth Of Life Hindi Poetry – जीवन की सच्चाई बताती हुई एक बेहतरीन हिंदी कविता

किन साँसों का मैं एतबार करू जो अंत में मेरा
साथ छोड जाएगी..!!

किन रिश्तों का मैं यहाँ आज अभिमान
करूं जो रिश्ते शमशान में पहुँचकर सारे टूट
जाएँगे.

किस धन का मैं अंहकार करू जो अंत में मेरे
प्राणों को बचा ही नहीं पाएगा….

किस तन पे मैं अंहकार करू जो अंत में मेरी
आत्मा का बोझ भी नहीं उठा पाएगा..

Inspirational Hindi Poetry On Life – लोग बाधाएं उत्पन्न करेंगे लेकिन आप ध्यान खुद पर होना चाहिए बताती हिंदी कविता

तू अपनी खूबियां ढूंढ,
कमियां निकालने के लिए *लोग हैं।*

अगर रखना ही है कदम तो आगे रख,
पीछे खींचने के लिए *लोग हैं।*

सपने देखने ही है तो ऊंचे देख,
निचा दिखाने के लिए *लोग हैं।*

अपने अंदर जुनून की चिंगारी भड़का,
जलने के लिए *लोग हैं।*

अगर बनानी है तो यादें बना,
बातें बनाने के लिए *लोग हैं।*

प्यार करना है तो खुद से कर,
दुश्मनी करने के लिए *लोग है।*

Hindi Poetry On Relations – रिश्तों के बारे में बहुत कुछ बताती एक बेहतरीन हिंदी कविता

कुछ रिश्ते है जो ख़ास है।
कुछ अपने मेरे पास है !!
कुछ रिश्तों ने खामोश किया
बस अपनों से ही आस है….

जो पहले मेरे खास थे
उन्होंने तोड़े विश्वास है !!
कुछ ने खेला जज्बातों से
उनको नहीं अहसास है….

कुछ हाथो से है छूट रहे
कुछ धीरे-धीरे रुठ रहे !!
कुछ ने पहने मुखोटे है।
और अपनों को ही लूट रहे…
– Preeti Sharma

Ishq Mohabbat Hindi Kavita – इश्क़ मोहब्बत में बिछड़ने पर होने वाले दर्द अनुभवों की व्याख्या करती एक एक बेहतरीन कविता।

कभी जो बैठोगे तुम सोचने तो
आयेगा मेरा ख्याल भी
मिलने की थी ख़ुशी बहुत,
अब बिछड़ने का होगा मलाल भी

क्यों छोड़ा तुमने साथ मेरा,
क्यूं बदलीं तुमने मंज़िलें
ढूँढोगे तुम जवाब खुद,
तुम करोगे खुद ही सवाल भी

भुला न सकोगे तुम हमें,
याद आयेंगे तुम को उम्र भर
कभी याद दिलाएगी बहार भी,
कभी शब-ए-ग़म का हिलाल भी

कभी रहोगे तुम उदास बोहत,
बेसकूंन भी, बेचैन भी
याद करोगे मुस्कराके हमें,
कभी दोगे जेहन से निकाल भी

कभी देखोगे हसीन पल में,
कभी देखोगे मुझे ख्वाब में
कभी डगमगाएगी कश्ती-ए-दिल,
कभी लोगे सम्भाल भी

दिल को रहे ‘नाज’ शिकायतें,
अधूरी अनकही हिकायतें
मिलके क्या था उनसे हादसा,
अब बिछड़ के क्या है कमाल भी।।

Beautiful Hindi Poetry On childhood बचपन की खूबसूरती बताती हुई बेहतरीन कविता

एक बचपन का जमाना था,
जिस में खुशियों का खजाना था
चाहत चाँद को पाने की थी,
पर दिल तितली का दिवाना था..
खबर ना थी कुछ सुबहा की,
ना शाम का ठिकाना था..
थक कर आना स्कूल से,
पर खेलने भी जाना था…
माँ की कहानी थी,
परीयों का फसाना था..
बारीश में कागज की नाव थी,
हर मौसम सुहाना था..
रोने की वजह ना थी,
ना हँसने का बहाना था..
क्युँ हो गऐ हम इतने बडे,
इससे अच्छा तो वो बचपन का जमाना था..
वो बचपन का जमाना था..

Hindi Poetry About Todays Life आजकल की बदलती हुई दुनिया का प्रभाव किस तरह से हमारे जीवन पर पड़ रहा है यह बताती एक खूबसूरत हिंदी कविता

फ़िक्र इन आंखों में परिवार का रहता है
आजकल इंतजार रविवार का रहता है।

जरुरते ना हो जाए कहीं कमाई से महंगी
ज़िक्र चाय के साथ अखबार का रहता है।

लग ना जाए कहीं मुस्कुराने पर भी टैक्स
डर इस बदलती सरकार का रहता है।

दिला दे मुझे एक लंबी छुट्टी इस काम से
इंतजार किसी एक ऐसे तार का रहता है

जख्मी नहीं होता अब मैं खंजरों के वार से
बोझ हर दिन दिल पर तलवार का रहता है।

सह लेता हूं भली बूरी हर बात खमोशी से
कर्ज मुझ पर मेरे संस्कार का रहता है।

कहा गवाता जा रहा है खुद को भागदौड़ में
सवाल चेहरे पर पड़ी दरार का रहता है।

कमा लू मैं लाख अपना ईमान बेचकर
फिर वजूद कहा मेरे किरदार का रहता है।

Pyaar Mohabbat Hindi Kavita – मोहब्बत के लिए खुद को बदलना पड़ता है, खूबसूरत हिंदी कविता।

आहिस्ता आहिस्ता करके,
पिघलना पड़ता है।
आसान नहीं मुहब्बत,
बहुत जलना पड़ता है।
बुझती भी नहीं आग दिल की,
जलकर राख भी नहीं होता है।
एक बार हो जाए मुहब्बत तो,
जिंदगी भर गिर गिर कर,
संभलना पड़ता है।
सदियों से रहा है दुश्मन,
जमाना मुहबत का|
घर वालों की नजर से भी,
आंसू बनकर निकलना पड़ता है।
खुब सोचना समझना मनोज,
किसी का होने से पहले।
क्योंकि हो जाए इश्क़ तो,
ताउम्र हाथ मलना पड़ता है।
इतिहास गवाह है मुहब्बत में,
मंजिल नहीं मिलती।
सूरज की तरह रोज,
निकलकर ढलना पड़ता है।
-WRITER MANOJ

Love Hindi Kavita – प्यार करनेवालों के लिए खूसबूरत दिल से कविता

दिलों की बातें क्या कहूँ
तुम बिन बोले ही समझो कभी !!

मैं ही हमेशा क्यों कहु
बातें तुम भी कहदो कभी !!

हमेशा मैं ही क्यों मनाऊ
तुम भी मुझे मनाओ कभी !!

जो रूठ जाऊ तुमसे तो
तुम भी हक़ जताओ कभी!!

जो गलत करू मै तो
तुम भी मुझे समझाओ कभी!!

नोक-झोक तो चलती रहेगी
पर छोड़ के ना जाओ कभी!!
– Preeti Sharma

Beautiful Love Story Hindi Kavita – अपना इश्क़ भी एक दिल मुकम्मल होगा कविता

मैं समेट कर तेरी पसंद का हर सामान लाया हूँ
खुदा से मांग कर तेरे सपनों का जहान लाया हूं

बड़ी ख़्वाहिश थी तुम्हें एक चमकते सितारे की
देख मैं झोले में भर के, पूरा आसमान लाया हूं

मैं क्या जानूं, कौन सा फूल पसंद आए तुमको
एक फूल के बदले, मैं पूरा गुलिस्तान लाया हूं

कि पास रहूं मैं तुम्हारे, यूं तुमसे दूर रह कर भी
मैं तोहफ़े में मोहब्बत का ऐसा निशान लाया हूं

इक रोज होगी पूरी, हमारे भी इश्क़ की कहानी
पर-आज लिख के,बस अधूरी दास्तान लाया हूं।
– avinash

Hindi Kavita on sad love – कवि के अंदर छुपे हुए दर्दों को बयां करती हुई दिल को छू जाने वाली हिंदी कविता।

मैं चाहता तो तुम्हे रोक भी लेता, पर तुम तो बस एक खयाल थी,
तुम्हे ढूंढ लेता मैं शायद खुदमे,पर तुम तो खुद पर सवाल थी।
किस तरह देखता चेहरा फिर से तुम्हारा
किस तरह पाता अब सहारा तुम्हारा,
किस मोड़ पर तुम्हारी राह देखता,
किस तरह से तुम्हारी आह देखता।
सोचता तुम्हें तो सोचता कैसे,
रोकता तुम्हे तो रोकता कैसे?
मिल रहा था तुम्हारी परछाई से काफी था,
मिल रहा था हमारी तन्हाई से काफी था,
अब किस रास्ते मे ढूँढू तुमको बताओ ना,
याद आती है तुम्हारी जान, वापस आजाओ ना।
एक बार बस एक बार!
मुझे मुझसे मिलवा दो,
तुम्हारे बिना आती ही नही,
मुझे मेरी नींद लौटा दो,
आओ न मुझे याद आती है तुम्हारी,
खुशबू तुम्हारे बाद भी आती है तुम्हारी।
शायद! शायद! कुछ किस्सा तुम्हारा मुझमे बाकी है,
शायद! शायद! इक किस्सा तुम्हारा मुझमें बाकी है।
मुझे अब भी तुमसे मुहब्बत है,
मुझे अब भी तुम्हारी आदत है,
अब दुनिया से कोई गिला नही मुझे,
तुम्हें भी तो मुझसे शिकायत है।
काश! काश! कोई काश हमारे बीच न आता,
काश कोई काश मुझे रात भर ना सताता!
शायद तब हम हम होते,
शायद तब कुछ गम कम होते।
©प्रयास शर्मा”आशुतोष”

Inspirational Hindi Kavita – मुश्किलो का सामना करने की सीख देती हुई एक बेहतरीन हिंदी कविता।

“जो कुछ हो, मैं न सम्हालूँगा इस मधुर भार को जीवन के.
आने दो कितनी आती हैं बाधायें दम-संयम बन के ।

नक्षत्रो, तुम क्या देखोगे-इस ऊषा की लाली क्या है?
संकल्प भर रहा है उनमें संदेहों की जाली क्या है?

कौशल यह कोमल कितना है सुषमा दुर्भेद्य बनेगी क्या?
चेतना इंद्रियों की मेरी मेरी ही हार बनेगी क्या?”

“पीता हूँ, हाँ, मैं पीता हूँ-यह स्पर्श, रूप, रस, गंध भरा,
मधु, लहरों के टकराने से ध्वनि में है क्या गुंजार भरा।

तारा बनकर यह बिखर रहा क्यों स्वप्नों का उन्माद अरे!
मादकता-माती नींद लिये सोऊँ मन में अवसाद भरे।

चेतना शिथिल-सी होती है उन अंधकार की लहरों में,
मनु डूब चले धीरे-धीरे रजनी के पिछले पहरों में ।

उस दूर क्षितिज में सृष्टि बनी स्मृतियों की संचित छाया से,
इस मन को है विश्राम कहाँ! चंचल यह अपनी माया से।

Hindi Kavita on feelings – पहली बार किसी ख़ास से मिलने पर होने वाले एहसास की व्याख्या करती बेहद ही खूबसूरत कविता।

एहसास

चेहरे पे थी प्यारी सी मुस्कुराहट
मासूमियत से आबाद साज
जब देखा उसे मैं पहली बार
तब हुआ मुझे ये एहसास…

फूलों सी खिलती आयी यूँ चलती
खड़ी हुई वो मेरे पास
जब मिला उसे मैं पहली बार
तब हुआ मुझे ये एहसास…

होंठो से निकली वो मधुर अल्फाज
कुछ तो बात थी उनमें खास
जब सुना उन्हें मैं पहली बार
तब हुआ मुझे ये एहसास…

धड़कनें तेज़ी से बढ़ने लगी
खोने लगे मेरे होशो आवाज
मैंने जब पूछा तो दिल ने कहा
जनाब! मोहब्बत है ये एहसास…
– MANOJ BAGARTY

Beautiful Hindi Kavita – कभी किसी के साथ बुरा नहीं करना चाहिए जीवन की सीख हिंदी कविता।

Kabhi kisi ka dil na dukhana,
Kya pata agli baari tumhari ho.
Kisi se pyaar zroor karna,
Kya pata kisi ko zroorat tumhari ho.
Kisi ko kuch dene se katraana mat,
Kya pata agli zroorat tumhari ho.
Kisi ko yaad karo toh bata diya karo,
Kya pata use bhi yaad tumhari aati ho.
Zakhm kisi ke kuredna mat,
Kyuki ghaav toh tumhare bhi hain.
Kisi se milo toh haal puch liya karo,
Kya pata wo kal ho na ho.
Koi tumhare sath ho toh haq jata diya karo,
Kya pata wo haq ki zroorat tumhari ho.

Zindagi Hindi Kavita – सवाल उठाती हुई कवि की एक बेहतरीन कविता

मकान जले तो बीमा ले सकते हैं,
सपने जले तो क्या किया जाए…

आसमान बरसे तो छाता ले सकते हैं,
आँख बरसे तो क्या किया जाए…

शेर दहाड़े तो भाग सकते हैं।
अहंकार दहाड़े तो क्या किया जाए…

काँटा चुभे तो निकाल सकते हैं।
कोई बात चुभे तो क्या किया जाए…

दर्द हो तो गोली (medicine) ले सकते हैं।
वेदना हो तो क्या किया जाये…

Hindi Poetry On Father – पिता पर खूबसूरत कविता

पिता एक उम्मीद है, एक आस है
परिवार की हिम्मत और विश्वास है,
बाहर से सख्त अंदर से नर्म है।
उसके दिल में दफन कई मर्म हैं।

पिता संघर्ष की आंधियों में हौसलों की दीवार है
परेशानियों से लड़ने को दो धारी तलवार है,
बचपन में खुश करने वाला खिलौना है
नींद लगे तो पेट पर सुलाने वाला बिछौना है।

पिता जिम्मेवारियों से लदी गाड़ी का सारथी है
सबको बराबर का हक़ दिलाता यही एक महारथी है
सपनों को पूरा करने में लगने वाली जान है
इसी से तो माँ और बच्चों की पहचान है।

पिता ज़मीर है पिता जागीर है
जिसके पास ये है वह सबसे अमीर है,
कहने को सब ऊपर वाला देता है
पर खुदा का ही एक रूप पिता का शरीर है।

Hindi Poetry On Life – जो है वो आज है जिंदगी कविता

पाने को कुछ नहीं,
ले जाने को कुछ नहीं;
उड़ जाएंगे एक दिन…
तस्वीर से रंगों की तरह!
हम वक्त की टहनी पर…
बैठे हैं परिंदों की तरह !
खटखटाते रहिए दरवाजा…
एक दूसरे के मन का
मुलाकातें ना सही,
आहटें आती रहनी चाहिए
ना राज़ है… “ज़िन्दगी”
ना नाराज़ है… “ज़िन्दगी”
बस जो है, वो आज है… “ज़िन्दगी”

Best Hindi Poetry – एक डोली चली एक अर्थी चली

बहुत ही सुंदर पंक्तियाँ पेश है –

एक डोली चली एक अर्थी चली……
बात दोनों में कुछ इस तरह से चली ,
बोली डोली तुम्हे किसने धोका दिया,
कहाँ तू चली…??
अर्थी बोली…….
चार तुझमे लगे, चार मुझमे लगे (कंधे)
फुल तुझपे सजे, फुल मुझपे सजे,
फर्क इतना ही है अब सुन ले सखी,
तू पिया को चली मै प्रभु को चली..
मांग तेरी भरी, मांग मेरी भरी,
चूड़ी तेरी हरी, चूड़ी मेरी हरी,
फर्क इतना ही है अब सुन ले सखी..
तू जहाँ में चली, मै जहाँ से चली……
एक सजन तेरा खुश हो जायेगा,
एक सजन मेरा मुझको रो जायेगा,
फर्क इतना ही है अब सुन ले सखी,,
तू विदा हो चली
मै अलविदा हो चली…..
……

Best Love Hindi Poetry – जरूरी नहीं हर रिश्ता प्यार का ही हो

जरूरी नहीं हर रिश्ता प्यार का ही हो
कुछ रिश्ते अपनेपन और एहसास के भी होते हैं।
जरूरी नहीं हर रिश्ते में जीत या हार हो
कुछ रिश्ते समर्पण के भी होते हैं।
जरूरी नहीं हर रिश्ते में कुछ पाना या खोना ही हो
कुछ रिश्ते त्याग के भी होते हैं।
जरुरी नहीं हर रिश्ता पास रहकर ही निभाना हो
कुछ रिश्ते दूर रहकर भी निभाने होते हैं।
जरूरी सहीं हर रिश्ते का आधार आपस में एक दूसरे से कुछ लेना देना ही हो
कुछ रिश्ते बिना स्वार्थ, बिना लेन देन के भी होते हैं
हर रिश्ते की अपनी खूबसूरती और जज्बात है।
बस ये जानकर ही उन्हें निभाने होते हैं…..

sheetal dubey ✍🏻

Love Hindi Poems – प्यार में अक्सर हिंदी कविता

थोड़ी खामोशी रखो और रिश्तों को कहने दो
ना बांधों ना बँधो, निश्छल स्वरूप में बस बहने दो!

प्यार है सच्चा, तो भरोशा भी पक्का ही रखो
बढ़ने दो उम्र को, दिल को हमेशा बच्चा ही रखो!

थोड़ी सी नोक झोंक तो रिश्तों में जरुरी है बहुत
प्यार का रंग गहरा और शिकवों का हल्का ही रखो!

जो रूठ जाये कोई, तो मना लो करके प्यार की बातें
रिश्तों में परवा जरुरी है बहुत,
इस बात का हमेशा एहसास रखो!

प्यार में अक्सर,
आप से तुम, तुम से तू होना लाज़मी है बहुत
खूबसूरत रहेगा रिश्ता हमेशा
बस एक दूसरे के बिचारों का, दिल से सम्मान रखो!

beautiful hindi poetry – मैं अपनी औकात में खुश हूँ

मैं अपनी औकात में खुश हूँ।
जैसी भी है जात में खुश हूँ।
नहीं किसी से कुछ चाहा है,
मैं तो हर हालात में खुश हूँ।
खुशियाँ रूठ गईं तो क्या गम
गैरों की बारात में खुश हूँ।
उन्हें मुबारक उनका सूरज,
मैं तो अपनी रात में खुश हूँ।
जब तक हंसी नहीं आती है।
आंसू की सौगात में खुश हूँ।
दर्द सहन करना क्या आया,
अपनों के आघात से खुश हूँ।
जश्न जीत का खूब मनाओ,
मैं तो अपनी मात में खुश हूँ।
इसका मतलब जो भी निकले
मैं तो बस बरसात में खुश हूँ।
वो दिमाग से बेशक सोचें
मैं तो दिल की बात से खुश हूँ।

Journey of life hindi poetry – अपने दर्द से सदा के लिए कहां जुदा हो पाते है हम

अपने दर्द से सदा के लिए कहां जुदा हो पाते है हम,
एक दर्द छोड़कर बस दूसरा दर्द अपनाते है हम..

रिश्ते निभाने का हुनर कहां सीख पाते हैं हम,
एक रिश्ता तोड़कर बस दूसरे रिश्ते में ढल जाते हैं हम…

मंज़िलें जीवन की कब हासिल कर पाते है हम,
मजबूरियों के नाम पर बस मंजिले बदलते जाते है हम..

अपनों के हिस्से का सच कब जीते हैं हम,
अपने अधूरे सच को बस जीते जाते है हम..

किसी का साथ निभाना तो मानो भूल गए है हम,
उसकी कुछ गलतियों को बस हर पल गिनवाते है हम..

Bhai Behan par Hindi Kavita – बड़े होकर भाई बहन कितने दूर हो जाते हैं

बड़े होकर भाई बहन कितने दूर हो जाते हैं |
इतने व्यस्त हैं सभीं, कि मिलने से मज़बूर हो जाते हैं|

एक दिन भी जिनके बिना नहीं रह सकते थे हम,
सब ज़िन्दगी मे अपने, मसरूफ हो जाते हैं |
छोटी-छोटी बात बताए बिना हम रह नही पाते थे |
अब बड़े-बड़े मुश्किलो से हम अकेले जूझते जाते हैं।

ऐसा भी नही की उनकी एहमियत नही हैं कोई,
पर अपनी तकलीफ़े जाने क्यूँ उनसे छिपाते हैं
रिश्ते नए, ज़िन्दगी से जुड़ते चले जाते हैं,
और बचपन के ये रिश्ते कहीं दूर हो जाते है
खेल खेल मे रूठना मनाना रोज़ रोज़ की बात थी
अब छोटी सी गलतफैमी दिलो को दूर कर जाती हैं।

सब अपनी उलझनो मे उलझ कर रह जाते हैं|
कैसे बताए उन्हे हम, वो हमे कितना याँद आते हैं।
वो जिन्हे एक पल भी हम भूल नही पाते हैं।।

Best Hindi Poetry On Lifeवक़्त के किनारे से लम्हों को उठा रहा था कविता

वक़्त के किनारे से लम्हों को उठा रहा था
चुन रहा था लम्हों को जब कोई बेहद याद आ रहा था

याद करते करते उनको आँखे छलक गयी
मोती बन कर गिरे जो आँसु उसमें इक सूरत झलक गयी

लम्हों को थामे हाथ में जब उन्हें जी रहा था
दर्द बह रहा था आँखो से और आँसुओ को पी रहा था

याद आ गया था एक ऐसा लम्हा हसीन
दिलनशीन थी ज़ेहन में और चेहरे पे मुस्कान महीन

चल पड़ा मैं उन लम्हों को समेटें
यादों की गठरी बना कर, तिजोरी में रखूँगा दिल की
कोई तोड़ ना पायें ऐसा ताला लगा कर

अब छू कर निकल जाते है अहसास बेशुमार
ना कोई दर्द होता है ना ही आँसु बहते है बेकार.।।

Best Hindi Poetry On Lifeजीने की आरजू दिलाए जा रही है.

!! ज़िन्दगी !!

दौड़ने की बात तो दूर अभी तो चलने भी नहीं दिया
फ़िर न जाने क्यूँ अभी से इतना थकाए जा रही है,

फुर्सत में कभी बताया ही नहीं कि क्या गुनाह है मेरा
बिन बताए ही मुझ पर इतने जुल्म बरसाए जा रही है,

रखना चाहती है वो मुझे सबसे दूर बस एक तन्हाई में
फ़िर न जाने क्यूँ दिल के इतने हिस्से बनाए जा रही है,

मानो जैसे गुज़ारनी हैं मुझे इस क़ायनात में सदियां
जो हर एक क़दम पर इतने तजुर्बे सिखाए जा रही है,

लाकर मुझे खड़ा किया एक अनजाने से मोड़ पर
न जाने क्यूँ अब यूँ सबसे रूबरू कराए जा रही है,

खुल कर हंसना शब्द तो रखा ही नहीं मेरे शब्दकोश में
एक मुस्कुराहट के पीछे से हर बार ही रुलाए जा रही है,

मंज़िल भी हुई है रुसवा इरादे भी साथ छोड़ रहे हैं
पर फ़िर भी अभी जीने की आरजू दिलाए जा रही है.।।

Mother’s Day Hindi Poetryमदर्ड डे पर हिंदी कविता

मदर डे
मदर डे की सुबह, मेरी बेटी ने सुंदर कार्ड थमाया
बोली प्यार से यूं मां, खास आपके लिये बनाया
देख नन्ही कलाकारी , मेरा मन हर्षाया
उसमें उडेला प्यार देख, मेरा मन भर आया
उसी लम्हा, अपनी मां का चेहरा याद आया
मदर डे के बारे ओर जानने को, उनको फोन घुमाया
पूछा मां, क्या कभी आपने भी मदर डे मनाया?
हंस के बोली मेरी मां, था तब ऐसा ज़माना कहाँ
मदर डे मनाने की किसको फुरसत मिलती थी
एक को पाला, एक को जन्मा, यूं ही जिंदगी चलती थी
मदर डे, चिल्ड्रन डे, आजकल के चोंचले
देखने हो सही मायने प्यार के, तो झांको चिड़ियों के घौंसले
क्या हुआ तन है छोटा, पर बड़े हैं हौंसले
उनका हर दिन लेबर-डे, हर रात मदर- डे होती है
दू-दूर से तिनके लाकर, अपना आशियां संजोती है
दाना-दाना मुंह में डाल, बच्चों का पेट भरती है
फिर ओर भोजन की तलाश में, नई उड़ानें भरती है।
शाम से पहले घर को लौटे, यूं फर्ज अदा करती है।
कोई डे मनाना हो, तो छोड़िये बेकार के ताम- झाम
अपना समय और धन लगाओ, किसी नेक काम
मदर डे को ढकिऐ, किसी अधनंगी मां का तन
चिल्ड्रन डे मनाओ, दे के भूखे बच्चों को अन्न
लेबर- डे को मत दुखाओ, किसी गरीब का मन
ऐसे करके आप करेंगे, एक फंथ दो काज़
एक आपका चोंचला हो जायेगा, दूजा बनेगा सुखी समाज

रजनी विजय सिंगला ✍🏻

Motivational Hindi Poetryगिर-गिर उठते रहना सीख हिंदी कविता

अच्छा है चुप रहना सीख।
लेकिन सच भी कहना सीख
झूठ दूर तक कब चलता है।
कड़वा सच भी सहना सीख।
हवा के संग बहता जाता है।
अपने पाँव पर रहना सीख।
दिल पत्थर ही ना बन जाये।
आँसू बन कर बहना सीख।
अगर मर्ज़ से रहना है तो।
किसी के दिल में रहना सीख
झूठी शान में जीवन खोया।
अब जिल्लत में रहना सीख।
हार जीत सब बेमानी है।
गिर-गिर उठते रहना सीख।।

Sad Love Hindi Poetryसाथ कुछ पल ही सही, निभाने तो आ कविता

साथ कुछ पल ही सही, निभाने तो आ…
दिल लगाने न सही, दुखाने तो आ।

सुना है दर्द ने तुझसे, राहत माँगी है…
हँसाने न सही, रुलाने तो आ !

तुझे मोहब्बत हो गई है, किसी और से मेरे मोहल्ले में..
दिल मुझसे न सही, उसी से लगाने तो आ !

मिज़ाज बदल के बातें, मुझसे करती हो क्यों…
मुझसे जी भर गया है, ये बताने तो आ !

कब तलक झूठी मोहब्बत को, पनाह देती रहोगी…
घर की छोड़ मेरे, अपना बसाने तो आ !

तुझे न मुझसे, न मेरी मोहब्बत से, सुकूं मिलता है..
खुशी किसमें है तेरी, ये बताने तो आ!!

गुलाब चन्द शर्मा ✍🏻

best Love Hindi Poetry For Couple’s – वो मेरी अक्स भी है, मेरी तस्वीर भी है कविता

वो मेरी अक्स भी है, मेरी तस्वीर भी है।
वो मेरी मुर्शिद भी, और मेरी पीर भी है,

उनके हथेली पे कुछ ऐसी लकीर भी है।
जिससे ज़ाहिर है वो मेरी तक़दीर भी है,

हम दोनों हैं तो आसमाँ के आज़ाद परिंदे
और फिर मैं उनका वो मेरी जंजीर भी है,

सब के अपने फ़लसफ़े है अपने क़ायदे हैं।
लेकिन वो मेरी ख़्वाब भी है ताबीर भी है,

बहोत क़ीमती दौलत संजोह लिया है मैंने
मेरी ख़ुशियाँ है,एक हसीन जागीर भी है,

मेरी सारी कविताओं में जो मौजूद है महक
कुछ तो उनकी ख़ुशबू कुछ तासीर भी है।

Sad Love Hindi Poetryहर वक्त प्यार जताऊ जरूरी तो नहीं

लिख देता हूं अपने जज्बातों को कविता में,
हर बात बोल के बताऊं जरूरी तो नहीं।

माना मुझसे भी होती है गलतियां,
पर तुम्हारी गलतियों पर भी मै ही मनाऊ जरूरी तो नहीं।

बहुत वक्त हो गया है तुमसे बात किए शायद भूल चुके हो अब मुझे,
पर मै भी तुम्हे भूल जाऊ जरूरी तो नहीं।

तुम क्यों नहीं समझते बेइंतहा मोहब्बत है तुमसे,
पर हर वक्त प्यार जताऊ जरूरी तो नहीं।

बहुत किया था तुमने भी मोहब्बत हमसे,
पर हमारी इश्क़ की कहानियां सबको सुनाऊ जरूरी तो नहीं।

मै जानता हूं अब खुश हो किसी और के साथ,
पर मै भी तुम्हारी जगह किसी और को लाऊ जरूरी तो नहीं।

Hindi Poems on Life >>


NOTE: All these poetries have been compiled from many places. The names of some poets are shown here, and some are not. Let us know if you know them. His name will be mentioned in this post. And if you have any problem with this Hindi Poetry, then please comment below. Also, contact us for credit or removal.

1 Comments

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *